Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana: मुख्यमंत्री चिरंजीवी श्रमिक संबल योजना 2024: रजिस्ट्रेशन

नमस्ते दोस्तों आज के लेख में मैं आपको Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana के बारे में पूरी जानकारी देने वाला हूं कि यह योजना क्या है और इस योजना का लाभ किस-किस को प्राप्त होने वाला है। 

यह योजना श्रमिकों के लिए है जो भी स्ट्रीट वेल्डर हैं या जो भीश्रमिक है उन लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान किया जाएगा यह सहायता उनको तब प्रदान किया जाएगा। 

जब वह लोग बीमार होंगे और उनको बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़ेगा तो ऐसी स्थिति में सरकार 7 दिनों तक का मिनिमम वेतन सरकार प्रदान करेगी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए श्रमिक की आयु 25 वर्ष से 60 वर्ष के अंदर होनी चाहिए तभी आप इस योजना का पात्र हो सकते हैं। 

Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana

मुख्यमंत्री चिरंजीवी श्रमिक संबल योजना (Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana) राजस्थान राज्य सरकार द्वारा प्रारंभ की गई एक सरकारी योजना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के स्ट्रीट वेंडर्स को आर्थिक सहायता प्रदान करना है, विशेषकर उनके लिए जो अस्पताल में भर्ती होते हैं।

योजना के तहत, यदि स्ट्रीट वेंडर बीमार हो जाता है और उसे अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है, तो ऐसे स्थिति में उन्हें 7 दिनों तक मिनिमम वेतन की सहायता ऑटोमेटिकली दी जाएगी। इससे उनके वेतन की छूटने की चिंता नहीं होगी।

इस योजना का लाभ राजस्थान के 25 से 60 वर्ष के श्रमिकों और स्ट्रीट वेंडरों को प्राप्त होगा। सरकार द्वारा इसके लिए 100 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है और इसका लाभ उनके परिवारों के सदस्यों को भी मिलेगा जो अस्पताल में भर्ती होते समय उनके साथ होते हैं। यह योजना राज्य सरकार के द्वारा श्रमिकों और स्ट्रीट वेंडरों की आर्थिक सुरक्षा और सामाजिक सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए शुरू की गई है।

योजना का नाम  Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana
शुरू की गईराजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा  
कब शुरू हुई  बजट 2023 के दिन
लाभार्थी  राज्य के पंजीकृत श्रमिक और स्ट्रीट वेंडर
उद्देश्य  अस्पताल में भर्ती होने के दौरान भी मिनिमम वेतन प्रदान करना
आर्थिक लाभ200 रुपए से लेकर 1400 रुपए  
राज्य  राजस्थान
साल  2024
आवेदन प्रक्रिया  ऑनलाइन/ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट  जल्द लॉन्च होगी  

Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana का उद्देश्य

मुख्यमंत्री चिरंजीवी श्रमिक संबल योजना का मुख्य उद्देश्य राजस्थान राज्य के श्रमिकों और स्ट्रीट वेंडर्स को आर्थिक सहायता प्रदान करना है,जो अस्पताल में भर्ती होते हैं। इसके तहत, जब इन श्रमिकों या स्ट्रीट वेंडरों को अस्पताल में भर्ती किया जाता है, तो उन्हें उनके वेतन की छूटने की चिंता नहीं होती है, क्योंकि सरकार द्वारा 7 दिनों तक मिनिमम वेतन की सहायता प्रदान की जाती है। इससे श्रमिकों के परिवार को आर्थिक समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता है और उनका आर्थिक बोझ कम होता है।

इस योजना के अंतर्गत, जब राज्य के पंजीकृत श्रमिक या स्ट्रीट वेंडर्स अस्पताल में भर्ती होते हैं, तो उन्हें प्रतिदिन 200 रुपए की सहायता प्रदान की जाती है, और इसका अधिकतम सीमा 7 दिनों तक 1400 रुपए होती है। यह सहायता राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में की जाती है। इसे केवल उन लोगों को प्राप्त होता है जो अस्पताल में भर्ती होते हैं, और यह उनके आर्थिक बोझ को कम करने में मदद करता है।

Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana के लाभ एवं विशेषताएं

  • योजना के अंतर्गत, जब कोई श्रमिक या स्ट्रीट वेंडर अस्पताल में भर्ती होता है, तो उन्हें 7 दिनों तक मिनिमम वेतन की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, जिससे उनके आर्थिक बोझ को कम किया जा सकता है।
  • यह योजना श्रमिकों और स्ट्रीट वेंडरों को अस्पताल में भर्ती होने पर उनकी आर्थिक सुरक्षा प्रदान करती है, जिससे उनके परिवारों को आर्थिक समस्याओं से बचाने में मदद मिलती है।
  • योजना का लाभ सभी लाभार्थियों को उपलब्ध होगा, और यह किसी भी भेदभाव के बिना प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से, श्रमिक और स्ट्रीट वेंडर आर्थिक समस्याओं का सामना करने के लिए आत्मनिर्भरता प्राप्त कर सकते हैं, और उन्हें अपने बच्चों की शिक्षा और जीवन की अधिक सुरक्षा प्रदान की जा सकती है।
  • इस योजना से श्रमिकों और स्ट्रीट वेंडरों को समाजिक सुरक्षा प्राप्त होती है, और वे आर्थिक दुखों से मुक्त होते हैं।
  • सरकार ने इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया है, जिससे श्रमिकों और स्ट्रीट वेंडरों को सहायता प्रदान की जा सकती है।

CG Kisan Dhan Bonus 2024

Sukh Samman Nidhi Yojana

Maharashtra Revised New Pension Scheme

UP Mukhyamantri Awas Yojana

MP Akanksha Yojana

Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana के लिए पात्रता

मुख्यमंत्री चिरंजीवी श्रमिक संबल योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित पात्रता मानदंड हैं:

  • योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए।
  • केवल राजस्थान के पंजीकृत श्रमिक और स्ट्रीट वेंडर ही इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • आवेदक को कम से कम 24 घंटे के लिए अस्पताल में भर्ती होना चाहिए तभी उसे इस योजना का लाभ प्राप्त होगा।
  • आवेदन करने के लिए आवेदक की आयु 25 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आवेदक का बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए, क्योंकि आर्थिक सहायता राशि सीधे बैंक खाते में हस्तांतरित की जाती है।

Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • श्रमिक पंजीयन नंबर
  • अस्पताल की पर्ची
  • बैंक खाता विवरण
  • जन आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana के तहत आवेदन कैसे करें?

दोस्तों हाल ही में इस योजना को शुरू किया गया है अभी तक इस योजना के आवेदन को लेकर किसी भी प्रकार की जानकारी सार्वजनिक नहीं किया गया है अगर आप इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं और लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको थोड़ा सा सब्र करना होगा। 

कुछ समय बाद सरकार द्वारा इस योजना क्या आवेदन को लेकर जानकारी सार्वजनिक किया जाएगा तब आप इस योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर आसानी से आवेदन कर सकते हैं और इस योजना का लाभ प्राप्त करसकते हैं। 

Conclusion

तो दोस्तों आज के लेख में मैंने आपको Mukhyamantri Chiranjeevi Shramik Sambal Yojana के बारे में पूरी जानकारी दी है मैं आशा करता हूं कि आपको यह हर एक पढ़ने के बाद आपको इस योजना के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी लेकिन अगर आपको फिर भी किसी भी प्रकार की सहायता चाहिए तब आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a comment