Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2024: उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना क्या है?

नमस्ते दोस्तों आज के लिए कि मैंमैं आपको Mukhyamantri Bal Seva Yojana के बारे में पूरी जानकारी देने वाला हूं इस योजना को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य कोरोनावायरस है संक्रमित बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है इस योजना के तहत बच्चों को या उनके परिवार को ₹4000 की आर्थिक सहायता प्रदान किया जाएगा। 

जिसका उपयोग करके वह अपनी देखभाल कर सकते हैं साथ ही साथ वह अपने पढ़ाई लिखाई का खर्चा भी निकाल सकते हैं यह एक महत्वपूर्ण योजना है जिसको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया है। अगर बच्चे की आयु 10 वर्ष से कम है तब वह इस योजना का पात्र नहीं हो सकता है।

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2024

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (Mukhyamantri Bal Seva Yojana) 2024, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई है और यह योजना कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बच्चों और उनके परिवारों की मदद के लिए डिज़ाइन की गई है। योजना के अंतर्गत, बच्चों को या उनके परिवारों को ₹4000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। यह पालन-पोषण के लिए उपयोग किया जा सकता है और इससे बच्चों की देखभाल में मदद मिलेगी। योजना के अंतर्गत लड़कियों की शादी के लिए भी आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। इसके माध्यम से शादी के खर्च को सरकार द्वारा सहायता की जा सकती है, जिससे परिवारों को आर्थिक बोझ कम होगा।

यदि बच्चे की आयु 10 वर्ष से कम है और उनके कोई अभिभावक नहीं है, तो उन्हें राजकीय बाल गृह में आवासीय सुविधा प्रदान की जाएगी। इससे इन बच्चों का सहारा मिलेगा और उनकी देखभाल की गई होगी। योजना के अंतर्गत स्कूल और कॉलेज में पढ़ रहे छात्रों को लैपटॉप या टेबलेट प्रदान किए जा रहे हैं, जिससे उनकी शिक्षा में सुविधा होगी।

YojnaMukhyamantri Bal Seva Yojana
किसने आरंभ कीUttar Predesh
लाभार्थीकोरोना वायरस संक्रमण के कारण अनाथ हुए उत्तर प्रदेश के बच्चे।
उद्देश्यकोरोना वायरस संक्रमण के कारण अनाथ हुए बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना।
Official WebsiteVery Soon
Years2024
आर्थिक सहायता₹4000 प्रतिमाह
Apply ProcessOnline/Offline

Mukhyamantri Bal Seva Yojana का उद्देश्य

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश राज्य में कोरोना वायरस पैंडेमिक के कारण अनाथ हुए बच्चों की मदद करना है। इस योजना के अंतर्गत, इन बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ताकि वे अपने जीवन को नॉर्मल तरीके से जी सकें।

इस योजना के माध्यम से, उत्तर प्रदेश सरकार के पास कोविड-19 महामारी के कारण अनाथ हो गए बच्चों के लिए विशेष ध्यान और सहायता की जरूरत है, ताकि वे बिना अपने भविष्य पर बुरा प्रभाव डाले अपना जीवन आगे बढ़ा सकें। यह योजना इन बच्चों के लिए एक सुरक्षित और स्वावलंबी भविष्य बनाने में मदद करने का प्रयास कर रही है, ताकि वे समाज में समर्थ हो सकें।

UP Bal Seva Yojana 2024 के लाभ एवं विशेषताएं

Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2023 उत्तर प्रदेश के बच्चों को कई तरह की आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए डिज़ाइन की गई है जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोनावायरस संक्रमण के कारण हुई है। इस योजना के लाभ और विशेषताएँ निम्नलिखित हैं:

  • सभी पात्र बच्चों को प्रतिमाह ₹4,000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी, जो उनके पालन-पोषण के लिए उपयोगी होगी।
  • योजना के अंतर्गत लड़कियों की शादी के लिए ₹1,01,000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी, जिससे उनके परिवार को आर्थिक सहायता मिलेगी।
  • यदि कोई बच्चा अभिभावक के बिना है और उसकी आयु 10 वर्षों से कम है, तो उसे आवासीय सुविधा प्रदान की जाएगी, जो राजकीय बाल गृह के माध्यम से उपलब्ध होगी।
  • सभी पढ़ाई कर रहे बच्चों को लैपटॉप या टेबलेट की सहायता भी प्रदान की जाएगी, जो उनके शिक्षा में सुधार करने में मदद करेगी।
  • योजना का लाभ उन बच्चों को भी प्रदान किया जाएगा जिन्होंने अपने लीगल गार्डियन या आय अर्जित करने वाले को कोरोना संक्रमण के कारण खो दिया है।
  • योजना के अंतर्गत आने वाले बच्चों को भारत सरकार द्वारा कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, प्रदेश सरकार द्वारा संचालित राजकीय बाल गृह, और अटल आवासीय विद्यालयों के माध्यम से शिक्षा और आवास की सुविधा प्रदान की जाएगी।

Mukhyamantri Bal Seva Yojana की पात्रता

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की पात्रता के अनुसार, निम्नलिखित शर्तें पूरी करनी चाहिए:

  • आवेदक को उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • योजना के अंतर्गत, आवेदक वह बच्चे होने चाहिए जिन्होंने कोविड-19 के कारण अपने दोनों माता-पिता को खो दिया हो। या फिर वे बच्चे पात्र हो सकते हैं जिनके लीगल गार्डियन को कोरोना वायरस संक्रमण के कारण खो दिया हो।
  • बच्चे के माता-पिता की आयु अब जीवित नहीं होनी चाहिए, और उनकी मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण होनी चाहिए।
  • बच्चे की आयु 18 वर्ष या उससे कम होनी चाहिए।
  • वर्तमान में जीवित माता या पिता की आय को ₹2,00,000 से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • यदि एक परिवार में एक से अधिक पात्र बच्चे होते हैं (जैविक या कानूनी रूप से गोद लिए गए), तो सभी उन बच्चों को इस योजना का लाभ प्राप्त कर पाएंगे।

UP Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2024 के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • उत्तर प्रदेश के निवासी होने का घोषणा पत्र (Residence Proof)
  • बच्चे का आयु प्रमाण पत्र (Child’s Age Proof)
  • 2019 से मृत्यु का साक्ष्य (Proof of Parent’s Death Since 2019)
  • बच्चे एवं अभिभावक की नवीनतम फोटो सहित पूर्व आवेदन (Latest Photos of Child and Guardian with Previous Application)
  • माता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र (Parent’s Death Certificate)
  • आय प्रमाण पत्र (यदि माता-पिता दोनों की मृत्यु हो जाती है तो उस स्थिति में आय प्रमाण पत्र जमा करना जरूरी नहीं है) (Income Certificate)
  • शिक्षण संस्थान में रजिस्ट्रेशन का प्रमाण पत्र (School Enrollment Certificate)
  • आवेदन पत्र (Application Form)
  • माता-पिता या वेज संरक्षक का मृत्यु प्रमाण पत्र (Death Certificate of Parents or Legal Guardian)
  • कोविड-19 से मृत्यु होने का प्रमाण (Proof of Death Due to COVID-19)
  • बल एवं अधिक आयु प्रमाण पत्र (Child and Guardian’s Age Proof)
  • 2015 की धारा 94 में उल्लेखित प्रमाण पत्रों के अतिरिक्त परिवार रजिस्टर की नकल (Additional Documents Mentioned in Section 94 of 2015)
  • आयु का प्रमाण (Age Proof)
  • विवाह की तिथि नियत होने या विवाह संपन्न होने से संबंधित अभिलेख (Marriage Date Certificate)
  • विवाह का कार्ड (Marriage Certificate)
  • निवास प्रमाण पत्र (Residence Certificate)
  • आय प्रमाण पत्र (Income Certificate) – इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए परिवार की सालाना आय ₹3,00,000 या फिर उससे कम होनी चाहिए।
  • बालिका एवं उसके अभिभावक की फोटो (Photos of the Girl Child and Her Guardians)

CG Kisan Dhan Bonus 2024

Sukh Samman Nidhi Yojana

Maharashtra Revised New Pension Scheme

UP Mukhyamantri Awas Yojana

MP Akanksha Yojana

Mukhyamantri Bal Seva Yojana के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया को फिर से समझाता हूँ:

  1. सबसे पहला आवेदक को यूपी का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  2. आवेदक को अपने ग्रामीण क्षेत्र के ग्राम विकास/पंचायत अधिकारी, तहसील, या जिला प्रोबेशन अधिकारी के कार्यालय से मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  3. आवेदन पत्र में आवेदक की जानकारी जैसे कि नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि को भरना होगा।
  4. आवेदन पत्र के साथ, आवेदक को आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने की आवश्यकता होगी, जैसे कि बच्चे का आयु प्रमाण पत्र, माता-पिता की मृत्यु का साक्ष्य, आवेदक और उनके अभिभावकों की फोटो, आय प्रमाण पत्र (यदि आवश्यक हो), शिक्षण संस्थान में रजिस्ट्रेशन का प्रमाण पत्र, आदि।
  5. सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र को कार्यालय में जमा करें।
  6. आवेदन पत्र के जमा होने के बाद, जिला बाल संरक्षण इकाई एवं बाल कल्याण समिति द्वारा पात्र बच्चों की प्रमाणिती की जाएगी।
  7. अगर आवेदन पत्र प्रमाणित हो जाता है, तो आपको मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  8. इसके बाद, आपको आर्थिक सहायता प्राप्त करने का लाभ मिलेगा और आपके बच्चे की शिक्षा और विवाह के खर्च का सहयोग किया जाएगा।
  9. योजना के तहत आपके बच्चों को लैपटॉप या टैबलेट के लिए भी सहायता प्रदान की जा सकती है।

दोस्तों इस प्रकार आप बहुत ही सरलता से इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं और अगर आप हमारे द्वारा बताए गए इन तरीकों का उपयोग करेंगे तब आप आसानी से इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं और इस योजना का पात्र बन सकते हैं और लाभ प्राप्त कर सकते हैं। 

Conclusion

दोस्तों आज के लेख में मैंने आपको Mukhyamantri Bal Seva Yojana के बारे में पूरी जानकारी दी है मैं आशा करता हूं कि आपको यह लेख पढ़ने के बाद यह समझ में आ गया होगा कि Mukhyamantri Bal Seva Yojana क्या है और इस योजना का लाभ किस-किस को प्राप्त होगा लेकिन अगर आपको फिर भी किसी भी प्रकार की जानकारी चाहिए तब आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a comment